mulank and bhagyank

Previous Topic Next Topic
 
Posted by ashwin ashwin
      Options
waht is mulank and bhagyank in numerology ?

2 Comments

classic Classic list List threaded Threaded
admin admin
Reply | Threaded
Open this post in threaded view
|

Re: mulank and bhagyank

मूलांक को अंग्रेजी में ‘Life Path Number’ ‘लाइफ पाथ नम्बर’ कहते हैं यह मूलांक आपके विषय में अनेक बातों स्पष्ट रूप से प्रस्तुत करता है तथा मूलांक द्वारा किसी भी व्यक्ति विशेष के बारे में अनेक मुख्य विषयों का पता लगाया जा सकता है. मूलांक व्यक्ति कि जन्म की तारीख का योग है अर्थात जिस तारीख या तिथि को आपका जन्म हुआ होगा उस तारीख का जोड़ या योग ही उस व्यक्ति का मूलांक होता है. मूलांक को प्राप्त करके अंक शास्त्र द्वारा मनुष्य के स्वभाव एवं उसकी विशेषताओं का पता लगा सकता है. मूलांक से हम जान सकते हैं कि व्यक्ति जन्म के समय क्या था, किन गुणों से वह युक्त होगा तथा उसके भीतर कौन सी कमियाँ हो सकती हैं. अंक शास्त्र में मूलांक का महत्वपूर्ण स्थान रहा है. अंक शास्त्र में केवल अंकों के माध्यम से किसी व्यक्ति के जीवन के बारे में सारगर्भित व्याख्यान प्रस्तुत किए जाते हैं. अंक शास्त्र कि मूलांक विधि द्वारा सरलता पूर्वक कई बातों का पता लगाया जा सकता है. ज्योतिष शास्त्र में हमे किसी व्यक्ति के विषय में बताने के लिए उसकी जन्म तिथि तथा जन्म स्थान का सहारा लेना पड़ता है. read full post - what is mulank
admin
admin admin
Reply | Threaded
Open this post in threaded view
|

Re: mulank and bhagyank

In reply to this post by ashwin
भाग्यांक, को जीवनचक्रांक (Life Cycle Number) जीवन-पथ (Life Path) या व्यक्तित्वांक (Individuality Number) भी कहा जाता है. भाग्यांक से व्यक्ति के भविष्य उसकी विचारधारा और उसके जीवन में घटने वाली महत्वपूर्ण घटनाओं को उल्लेखित किया जा सकता है. भाग्यांक को प्राप्त करके हम अनेक प्रकार की सटीक भविष्यवाणियाँ कर सकते हैं, तथा जीवन को उचित प्रकार से जीने प्रयास कर पाते हैं. उदाहरणः भाग्यांक जानने के लिए हम इस गणना को करते हैं जैसे किसी व्यक्ति का जन्म 14 दिसंबर 1942 को है, तो उस जातक का भाग्यांक निम्नलिखित तरीके से निकाला जा सकता है.Destiny Number (Bhagyank) - Sum of your date of birth. जन्म तारीख + जन्म मास + जन्म वर्ष = भाग्यांक जन्म तारीख - 1 + 4 = 5 जन्म माह - 1 + 2 = 1 + 2 = 3 जन्म वर्ष - 1942 = 1 + 9 + 4 + 2 = 16 = 1 + 6 = 7 तो इस प्रकार इस व्यक्ति का भाग्यांक= 5 + 3 + 7 = 15 = 6
admin